असानी चक्रवात के चलते उत्तांग लहरों ने ‘गोल्डन रथ’, को समुद्री तट पर फेंका

0
8

विशाखापट्टनम । विशाल समुद्र की रौद्र लहरों का उत्पात काफी विनाशक होता होता जब वह उफनता है तो बहुत सी चीजों को बाहर निकाल देता है। बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवात असानी की वजह से समुद्र इस समय उफान पर है। आंध्र प्रदेश में श्रीकाकुलम के तट पर ऐसी ही उफनती लहरों में एक ऐसी चीज बहकर आ गई, जिसे देखकर लोग दंग हैं। ये एक रथ की तरह दिखने वाला ढांचा है, जिस पर सोने जैसे रंग की परत चढ़ी हुई है। इसे देखकर लोग अंदाजा लगा रहे हैं कि ये कहां से आया होगा और किसका है। ये रथ श्रीकाकुलम जिले के सुन्नापल्ली तट पर मंगलवार शाम को समुद्र में बहकर आया। लोगों ने जब समंदर में बहते रथ को देखा तो उसे रस्सियों से खींचकर किनारे पर ले आए। थोड़ी ही देर में इसकी खबर फैल गई और बड़ी संख्या में लोग वहां इकट्ठे हो गए। उसके ऊपर किसी मॉनेस्ट्री जैसे आकार का ढांचा बना हुआ है। उस पर गोल्डन कलर की परत चढ़ी है। उसे इस तरह बनाया गया है कि वो पानी में तैर सके। रिपोर्ट के मुताबिक, ये रथ म्यांमार, मलेशिया या थाईलैंड जैसे किसी दक्षिण पूर्व एशियाई देश से संबंधित हो सकता है। चक्रवात की वजह से पहले दक्षिणी अंडमान सागर में कम दबाव का क्षेत्र बना था, ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि ये रथ म्यांमार, थाईलैंड, मलेशिया या इंडोनेशिया जैसे अंडमान सागर के किसी करीबी देश का हो सकता है। जो चक्रवात असानी के प्रभाव से भटककर यहां आ गया। हालांकि संताबोम्मली के तहसीलदार जे। चलमैय्या इससे इत्तफाक नहीं रखते। उनका अनुमान है कि ये रथ किसी दूसरे देश से नहीं आया होगा। संभवतः इस रथ का इस्तेमाल भारतीय तट पर कहीं किसी फिल्म की शूटिंग के लिए किया गया होगा, जो समुद्री लहरों में बहकर श्रीकाकुलम तट पर आ गया।

Previous article500 रुपये के नोट के असली-नकली होने पर स्पष्टीकरण जारी
Next articleवैवाहिक बलात्कार अपराध है या नहीं, इस पर दिल्ली हाईकोर्ट 2 जजों की बेंच ने अलग-अलग फैसला दिया